जासूस की मौत पर रूस और UK आमने-सामने, पुतिन ने सुनाया 23 ब्रिटिश डिप्लोमेट को देश छोड़ने का फरमान - ░▒▓█ Face Insider⌥ █▓▒░ | Social media marketing

Post Top Ad

Sunday, March 18, 2018

जासूस की मौत पर रूस और UK आमने-सामने, पुतिन ने सुनाया 23 ब्रिटिश डिप्लोमेट को देश छोड़ने का फरमान

जासूस की मौत पर रूस और UK आमने-सामने, पुतिन ने सुनाया 23 ब्रिटिश डिप्लोमेट को देश छोड़ने का फरमान

समाचार एजेंसी स्पुतनिक के अनुसार, "रूस में ब्रिटेन के दूतावास के 23 राजनयिकों को 'अयोग्य' घोषित किया जाएगा और एक सप्ताह के अंदर देश से निष्कासित किया जाएगा."
जासूस की मौत पर रूस और UK आमने-सामने, पुतिन ने सुनाया 23 ब्रिटिश डिप्लोमेट को देश छोड़ने का फरमान

मॉस्को: रूस ने ब्रिटेन में पूर्व जासूस और उनकी बेटी को जहर देकर मारने के प्रयास के मामले में उपजे तनाव के बीच शनिवार को ब्रिटेन के 23 राजनयिकों को निष्कासित करने का ऐलान किया. रूस ने यह कदम ब्रिटेन द्वारा रूस के 23 राजनयिकों को निष्कासित करने के फैसले के बाद उठाया है. समाचार एजेंसी स्पुतनिक के अनुसार, "रूस में ब्रिटेन के दूतावास के 23 राजनयिकों को 'अयोग्य' घोषित किया जाएगा और एक सप्ताह के अंदर देश से निष्कासित किया जाएगा."
रूस के विदेश मंत्रालय ने देश में ब्रिटेन के राजदूत लॉरी ब्रिस्टॉ को तलब कर इस निर्णय की जानकारी दी. रूस के पूर्व जासूस सर्गेइ वी. स्क्रिपल (66) और उनकी बेटी युलिया(33) 4 मार्च को दक्षिणी इंग्लैंड के साल्बिरी में एक बेंच के बाहर बेहोशी की हालत में पाए गए थे. दोनों फिलहाल अस्पताल में हैं और उनकी हालत गंभीर बनी हुई है.
रूसी के सेवानिवृत सैन्य खुफिया अधिकारी स्क्रिपल को ब्रिटेन के लिए जासूस करने के आरोप में रूस ने वर्ष 2006 में 13 वर्ष की सजा सुनाई थी. हालांकि, बाद में उन्हें माफी मिल गई थी और ब्रिटेन ने उन्हें नागरिकता दे दी थी. वह तब से ब्रिटेन में ही रह रहे हैं.
पूर्व जासूस को जहर देने का मामला: ब्रिटेन के विदेश मंत्री ने पुतिन को ठहराया दोषी, रूस ने किया पलटवार
वहीं दूसरी ओर ब्रिटेन के विदेश मंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा कि इस बात की पूरी संभावना है कि रूसी राष्ट्रपति ने ब्रिटेन के सलिसबरी शहर में एक पूर्व जासूस को जहर देने के आदेश दिए हों. प्रधानमंत्री टेरीजा मे के अनुसार, इस बात की पूरी संभावना है कि सेर्गेई स्क्रिपाल और उनकी बेटी यूलिया पर हमले के लिए रूस सरकार जिम्मेदार हो. लेकिन जॉनसन ने एक कदम आगे बढ़ते हुए पुतिन को सीधे सीधे जिम्मेदार ठहराया.उन्होंने कहा की हमारी लड़ाई पुतिन सरकार और उनके फैसले से है और मुझे लगता है कि इस बात की पूरी संभावना है कि द्वितीय विश्व युद्ध के बाद पहली बार यूरोप की सड़कों पर जहर से हमले का सीधा-सीधा फैसला (पुतिन) हो.

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad